Advertisement

Responsive Advertisement

सच्चाई की ताकत



एक छोटी सी कहानी (Short Story In Hindi)


हमारे देश भारत में एक बड़ी ही रोचक कहानी प्रसिद्ध है. किसी एक राज्य में बड़ा ही वीर और गुणी राजा रहता था.एक बार राजा के दरबार में एक ज्योतिष आता है और वह ज्योतिष राजा की कुंडली देखकर कहता है कि ये आपका संपूर्ण जीवन ही बेकार है और आपका जीना ही बेकार है, आपके जीते जी आपके सारे रिश्तेदार आपके सामने ही मर जाएंगे और आप अपने इस वंश में अकेले रह जाएंगे.
ज्योतिष की ये बात सुनकर राजा को बड़ा दुख हुआ और अब राजा दुखी और एकांत रहने लग गया. ये सब नज़ारा देखकर राजा के मंत्री लोग भी परेशान हो गए. राजा से उनकी उदासी का कारण पूछने की हिम्मत राजमणि नाम के एक मंत्री ने दिखाई तो राजा ने अपनी सारी ज्योतिष वाली बात मंत्री के आगे रख दी. मंत्री ने राजा को एक सुझाव देते हुए कहा कि आप पण्डित जगन्नाथ से बात क्यो नहीं करते वो ज्योतिष विद्या में काफ़ी सिद्ध है.
राजा ने मंत्री के सुझाव पर पण्डित को बुला लिया . पण्डित ने भी राजा की कुंडली देख ज्योतिष की बात को सही ठहराया कि पुराने पंडित ने सही भविष्यवाणी की लेकिन, अब वो राजा को ये नहीं बता सकता था कि उसके सारे रिश्तेदार उसके सामने ही मर जाएंगे और वो कोई झूठ भी नहीं बोल सकता था. उसने दो टूक विचार किया. फिर चेहरे पर चमक लाकर राजा से बोला, आपकी कुंडली में तो दुख का कोई योग है ही नहीं, आप लंबे समय तक राज करेंगे. आपका राज्य लगातार बढ़ेगा, सालों साल आप सिंहासन की शोभा बढ़ाएंगे धन, दौलत और आयु में भी आप अपने पूरे कुटुंब में सबसे आगे रहेंगे. आपकी जितनी आयु पूरे कुटुंब में किसी के भाग्य में नहीं होगी. आपकी कुंडली में मुझे कुछ गलत नहीं दिख रहा.

पंडित जगन्नाथ ने पुराने पंडित की बात दोहराई कि राजा के जीते-जी उसके सारे रिश्तेदार मर जाएंगे, ये कह कर की पूरे कुटुंब में उससे ज्यादा किसी की आयु नहीं। लेकिन राजा को पंडित की बात सुन काफी संतोष हुआ। उसे खूब सारा इनाम भी दिया।



सीख (What we learn)


दोस्तों, हमने सीखा कि हम कैसे पण्डित जगन्नाथ की तरह बड़ी बड़ी बात को जो इंसान को काफी दुख दे सकती है उस बात को भी हम कैसे हल्के से हल्के करके भी बोल सकते हैं.


सत्य का मतलब क्या होता है (What is truth in hindi)


सत्य को अगर कुछ चंद शब्दों में कहा जाय तो "निर्भीकतापूर्वक कहीं गई बात" कहना ग़लत नहीं होगा.मेरा मानना है कि भयमुक्त वातावरण में ही व्यक्ति सत्य बोल सकता है. सत्य का सिद्धांत (Sataya ka siddhant) पूरी तरह से व्यक्ति की निष्ठा और उसके व्यवहार को इंगित करता है.सत्य का महत्व (satya ka mahatva in hindi) व्यक्ति की महानता को इंगित करता है. व्यक्ति का सादगीपूर्ण जीवन उसके आदर्शो, अनुशासन और विचारों को काफी हद तक प्रदर्शित कर देता है.

सच कड़वा है (Truth Is Bitter)


दोस्तो आपने वो मशहूर जुमला तो सुना ही होगा "सच कड़वा होता है" हां ये हकीकत है सच कड़वा होता है ये वैश्विक सत्य है (truth is bitter, it's universal truth) इसे जुठलाया नहीं जा सकता है.आपको लाखो झूठ बोलने पड़ते हैं, एक सच को छुपाने के लिए, क्यों? आखिर क्यों?
दोस्तो यकीन मानिए, आपका एक सच बोलना बेशक आपको थोड़ा भीतर से शर्मिंदा कर सकता है लेकिन एक सच से जो आप ताकत महसूस करते है वो अद्भूत, अविश्वसनीय होती है, इसलिए मित्रों सच बोलना सीखो. ये आपको फर्श से अर्श तक ले जाने की ताकत रखता है. हां, मैं इस बात से भी सहमत हूं कि जहां एक झूठ से किसी की जिंदगी में परिवर्तन आता है तो वहा वो झूठ नहीं अमृत के समान हुआ करता है जैसा की अक्सर हमारे माता पिता हमें बचपन में झूठ बोलकर हमें प्रोत्साहित किया करते थे.  


Post a Comment

0 Comments