Advertisement

Responsive Advertisement

मुंह से निकले शब्द

आज की इस पोस्ट में हम बात करेंगे एक बेहतरीन प्रेरणादाई कहानी की। जिस कहानी को पढ़ने के बाद यकीनन आप जीवन के कुछ प्रेरक मूल्यों बातों को अवश्य सीखेंगे।



मुंह से निकले शब्द
(Short Moral Story In Hindi)


एक बार रामू ने अपने पड़ोसी को भला बुरा कह दिया और काफी कुछ उल्टा सीधा सुना दिया। बाद में रामू को अपने कहे शब्दों पर अपनी गलती का अहसास हुआ।


 और, वो गांव के मशहूर साधु आत्माराम जी के पास गया। आत्माराम के पास हरेक समस्या का निवारण होता था इसलिए गांव वाले उनका बहुत मान सम्मान किया करते थे।


साधु के पास जाने के बाद उसने अपनी समस्या बताई और साधु ने रामू को कुछ पंख लाने को कहा।


पढ़े- 4 घोड़ों की कहानी

रामू साधु के कहने पर कुछ पंख ले आया।


अब, साधु ने उसे इन पंखों को पास के ही एक चौराहे पर, तो कुछ गांव में इधर उधर सड़क के किनारे आदि पर रखके आने को कहा।


रामू साधु के कहने पर सारे पंख रख आता है।


अब, साधु उससे सारे पंखों को इकट्ठा करके लाने को कहता है।


जब किसान पंखों को वापस लेने जा रहा था तो सारे पंख हवा के कारण उड़ चुके थे, इसलिए वो खाली हाथ ही साधु के पास लौट आता है।


साधु रामू को समझाते हुए कहते हैं ठीक इसी प्रकार तुम्हारे कहे हुए शब्दों के साथ होता है, जो एक बार मुख से निकल जाते हैं फिर वो चाहकर भी वापिस नहीं लिए जा सकते।


सीख

(Moral Of The Story)


हमें अपने मुख से शब्दों को सोच विचार करके निकालने चाहिए। कुछ अपशब्द मुख से निकले ही नहीं इस बात का हमें स्मरण सदैव रहना चाहिए। 


दोस्तों, आपको हमारी ये Motivational Story in hindi पढ़के कैसे लगी? Comment box में जरूर बताएं. हमें support करने के लिए हमारी post को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें।


अगर आपके पास भी motivational story in hindi या अन्य कुछ प्रेरणादायक विचार, कविताएं, प्रेरक प्रसंग या अन्य प्रेरक तथ्य इत्यादि हैं तो हमें जरूर भेजिएगा, अगर हमें आपकी पोस्ट अच्छी लगेगी तो हम उसे अपने blog में अपके फोटो सहित उसे जरूर publish करेंगे। आप हमें motivationalwala@gmail.com पर mail कर सकते हैं।

 

Read Also Related To Post :


अपनी वैल्यू को बढ़ाओ


Post a Comment

0 Comments